समरहिल

समरहिल

₹125.00Price

 

 

लेखक : ए. एस. नील

240 pages  |  hardbound

  • About the Book

    सारे जुर्म, सारी नफरत, सारी लड़ाइयों की जड़ में हमारी नाखुशी है. यह किताब दिखने की कोशिश करती है की दुख कैसे पैदा होता है, कैसे वह इन्सान के जीवन को बर्बाद करता है और बच्चों की परवरिश कैसी हो की नाखुशी की गुंजाईश ही न रहे I